Uncategorized

उत्तर प्रदेश में पत्रकारों पर हो रहे शोषण के विरोध में संयुक्त पत्रकार संगठन साझा मंच कर सौंपा ज्ञापन

राजधानी लखनऊ में संयुक्त पत्रकार संगठन साझा मंच ने डीएम को सौंपा ज्ञापन।
________&_________&_____
पत्रकारों पर प्रदेश में दर्ज हो रहे फ़र्ज़ी मुकदमों और पत्रकार उत्पीड़न के विरोध में मंच ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और प्रेस काउंसिल आफ इंडिया को भेजा ज्ञापन।
_________________________
लखनऊ:- उत्तर प्रदेश में बीते कुछ माह से पत्रकारों के हो रहे उत्पीड़न और प्रशासन द्वारा पत्रकारों पर मुकदमा लिख जेल भेजने से आहत हो राजधानी लखनऊ के कई पत्रकार संगठनों ने साझा मंच का निर्माण कर बृहस्पतिवार को डीएम कौशल राज शर्मा के कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा। जिसमें पत्रकारों पर तुरंत मुकदमा लिख जेल भेजने पर खेद जताते हुए कहा गया कि अगर ऐसा ही होता रहा तो कुछ दिनों में प्रदेश की जेलों में मात्र पत्रकार ही दिखाई देंगे। नेशनल क्राइम रिकाईस ब्यूरो (एन सी आर बी ) की माने तो देश में पत्रकारों के साथ हिंसा और उन पर हमलों के मामले में उत्तरप्रदेश नंबर वन पर है। पिछले कुछ माह से पत्रकारों के खिलाफ हिंसा और उत्पीड़न के लगभग 3 दर्जन मामले दर्ज हो चुके हैं। वही हिंसा में कई पत्रकारों की मौत भी हो चुकी है। साझा मंच संयोजक सैयद अलीम क़ादरी ने कहा कि अगर पत्रकार की खबर से कोई आहत हुआ है या किसी की कोई तथ्यात्मक त्रुटि हुई है। तो उसके लिए न्यायलय या अलग फोरम बने हैं। ना कि उन पर एफआईआर लिख जेल भेजा जाए। संयुक्त पत्रकार साझा मंच ने आज डीएम लखनऊ के माध्यम से ज्ञापन सौप कर राष्ट्रपति प्रधानमंत्री व प्रेस काउंसिल आफ इंडिया को पत्र भेजा इस अवसर पर मंच के संयोजक सैय्यद अलीम कादरी ,वरिष्ठ पत्रकार हेमंत कृष्णन ,चाँद फरीदी, मोहम्मद ताहिर अहमद वारसी, हयात कादरी ,गुफरान अहमद, रुवेद कमाल किदवाई, आलोक त्रिपाठी, ललित श्रीवास्तव, आर के मिश्रा आदि पत्रकार मौके पर मौजूद रहे संयोजक द्वारा बताया गया कि कल दिनांक 27/9/ 2019 को 12:00 बजे दोपहर में संयुक्त पत्रकार संस्थान साझा मंच प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा से विज्ञान भवन नबीउल्लाह रोड स्थित कार्यालय पर मुलाकात कर दोपहर 12:00 बजे ज्ञापन सौंपेगा।

Comment here